क्या इतनी अजनवी हो गयी है सूरत हमारी….

क्या इतनी अजनवी हो गयी है सूरत हमारी ,
क्यों आईना भी मुझसे अब आँखें नहीं मिलाता||

-भावनाथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *