Category: शायरी

Sad Shayaries

Nov 15 2018

ज़िन्दगी की कशमकश से परेशान बहुत है Hindi Shayari

ज़िन्दगी की कशमकश से परेशान बहुत है, दिल को न उलझाओ ये नादान बहुत है।। यूं सामने आ जाने पर कतरा के गुजरना, वादे से मुकर जाना उसे आसान बहुत है। यादें भी हैं, तल्खी भी है, और है मोहब्बत, तू ने जो दिया दर्द का सामान बहुत है। अश्क कभी, लहू कभी, आँख से […]

Feb 12 2017

क्या इतनी अजनवी हो गयी है सूरत हमारी….

क्या इतनी अजनवी हो गयी है सूरत हमारी , क्यों आईना भी मुझसे अब आँखें नहीं मिलाता|| -भावनाथ

Feb 12 2017

अदा भी है , सादगी भी है …

अदा भी है, सादगी भी है| लाजबाब हुश्न है, आवारगी भी है| कभी खुद को आईने  मै देखो, तो जानोगे| क्या भावनाथ को तुमसे मोहब्बत है, और नाराजगी भी है|| -भावनाथ

Feb 08 2017

महज दो साँस की दूरी पे जिंदगी और मौत है…

महज दो साँस की दूरी पे जिंदगी और मौत है| आज सफर ख़ुशनुमा तो कल परेशानी बहुत है|| दो पल में बदलते हालात क्यों ग़फ़लत में जिए| बाद बस रह जाएंगे जो भी अफसाने है किए|| बेवज़ह की तू तू मैं मैं से क्यों मन में खोट है| जी ले हँसी ख़ुशी तो यही हासिल […]

Dec 14 2016

शादी क्या होती है – Funny Jokes

शादी क्या होती है? यह समझने के लिए ….. एक वैज्ञानिक ने शादी कर ली…. . अब उसको समझ नही आ रहा कि!!!!!!!!!!!!!!!! . . . . . विज्ञान क्या होता है…!!!???????????? ???

Dec 13 2016

माना हर किसी के हाथ में दुआ भी – Hindi Shayary

माना हर किसी के हाथ में दुआ भी और पत्थर भी| पर हर दिलों दिमाख पे तेरी फितरत का असर भी|| नीव की गहराई ही हर इक इमारत की बुलंदी है| सोचने वाले क्या सोचे जब सोच ख़ुद की गन्दी है|| गर तुम्ही ने बोयें है जमीं में बारूद के मंजर| जुबाँ मीठी पर रहे […]

Dec 10 2016

तेरे करीब आते आते मैं-Shayari in Hindi

तेरे करीब आते आते मैं ख़ुद से ही दूर हो गया हूँ| तू दिल की चाहत, हाले दिल मज़बूर हो गया हूँ|| न मिली तेरी तबज़्ज़ो न कभी ख्याल मेरा आया| तुझे भुलाना भी जो चाहा ये दिल भुला न पाया|| Written By : Neeraj Saxena

Dec 10 2016

दो चार बार हम जो कभी हँस-हँसा लिए – Hindi Shayri

दो चार बार हम जो कभी हँस-हँसा लिए| सारे जहाँ ने हाथ में पत्थर उठा लिए|| रहते हमारे पास तो ये टूटते जरूर| अच्छा किया जो आपने सपने चुरा लिए|| चाहा था एक फूल ने तड़पे उसी के पास| हमने खुशी के पाँवों में काँटे चुभा लिए|| सुख, जैसे बादलों में नहाती हों बिजलियाँ| दुख, […]

Dec 09 2016

बेपनाह आरजू थी दिल में – Hindi Shayari

बेपनाह आरजू थी दिल में| मेरा दिल प्यार तुझी से करता था|| फुर्सत हो या न हो| वक्त चुराने को दिल करता था|| देर तलक चौराहे पर| राह निहारने को जी करता था|| एकतरफा था प्यार मेरा| पर दिल न समझाये समझता था|| याद है मुझको आज भी| जब वक्त तेरी गलियों में गुजरता था|| […]

error: